Online India

Pooja Sharma   2018-09-16

मनोहर पर्रिकर के AIIMS में भर्ती होते ही गोवा में CM की कुर्सी के लिए खींचतान शुरू

OnlineIndia डेस्क l गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर लंबे समय से पेनक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे हैं. तबीयत खराब होने के बाद शनिवार को उन्हें गोवा से एयरलिफ्ट कर दिल्ली लाया गया. यहां एम्स अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है. मुख्यमंत्री की सेहत में लगातार गिरावट के बीच नए मुख्यमंत्री को लेकर घमासान शुरू हो गया है. गोवा में गठबंधन की साथी महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी (एमजीपी) ने कहा है कि अपनी गैरमौजूदगी में पर्रिकर को सबसे वरिष्ठ मंत्री प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपनी चाहिए l

कुछ महीने पहले पर्रिकर ने अपनी बीमारी का खुलासा किया था और इलाज के लिए वह तीन महीने तक अमेरिका में भी रहे थे. सितंबर के पहले सप्ताह में ही वह अमेरिका से वापस लौटे हैं. अपनी गैरमौजूदगी में उन्होंने राज्य को चलाने के लिए मंत्रिमंडलीय सलाहकार समिति का गठन किया था l 
डॉक्टरों की टीम इलाज में जुटी
एम्स से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि अग्नाशय से जुड़ी बीमारी से जूझ रहे पर्रिकर के इलाज में डॉक्टरों की टीम जुटी हुई है. सूत्र ने कहा, ‘‘डॉक्टरों का एक दल उनकी जांच कर रहा है और उनके कुछ टेस्ट भी किए जाएंगे.’’ पर्रिकर सितंबर के पहले सप्ताह में इलाज करा कर अमेरिका से लौटे हैं, जिसके बाद उन्हें कान्डोलिम में भर्ती कराया गया.
शनिवार सुबह खबर आई कि पर्रिकर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से फोन पर बात की है और स्वास्थ्यगत कारणों का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री के तौर पर काम करने में असमर्थता जाहिर की है. इसके बाद बीजेपी से जुड़े सूत्रों ने जानकारी दी कि बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व की एक टीम गोवा भेजी जा सकती है.
समय आने पर करेंगे फैसलाः शाह
वहीं शनिवार को हैदराबाद में गोवा के मुख्यमंत्री को रिप्लेस करने के सवाल पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि इस बारे में सही समय आने पर फैसला किया जाएगा. उन्होंने कहा कि फिलहाल पार्टी पर्रिकर के जल्द ठीक होने के प्रार्थना कर रहे हैं.

सहयोगी पार्टियों के बीजेपी में विलय की कोशिश
भारतीय जनता पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने शनिवार को कहा कि गोवा की राजनीतिक स्थिति का आंकलन करने रविवार को दिल्ली से आ रहे भाजपा नेता गठबंधन के सहयोगियों से भगवा दल में अपना विलय कर लेने को कहेंगे. गोवा विधानसभा के उपाध्यक्ष एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता माइकल लोबो ने कहा कि पार्टी के दूत गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) और महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) को सुझाव देंगे कि वे भगवा पार्टी का हिस्सा बन जाएं. लोबो ने कहा, ‘‘फिलहाल हमारा ध्यान सदन में भाजपा का संख्याबल 14 से बढ़ाकर 17 करने पर है.’’ उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव रामलाल और बी एल संतोष रविवार दोपहर यहां पहुंचेंगे l

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like