Online India

  2016-12-06

नहीं रही अम्मा

-रात साढ़े ग्यारह बजे ली अंतिम सांस

OnlineCG Central | तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे. जयललिता की रविवार को हार्ट अटैक के बाद सोमवार रात साढ़े ग्यारह बजे उनकी मौत हो गई। यह खबर जयललिता के समर्थकों के लिए बड़ा झटका है। इससे पहले अपोलो अस्पताल ने जयललिता की हालत को बेहद गंभीर बताया था। अस्पताल ने ट्वीट भी किया कि हमारे बेहतरीन प्रयासों के बावजूद भी उनकी स्थिति नाजुक बनी हुई है। आपको बता दें कि 22 सितंबर से जयललिता अपोलो अस्पताल में भर्ती थी। उन्हें लंग इन्फेक्शन था। इस दौरान तमिलनाडु में जब भी कैबिनेट की मीटिंग होती थी तो उनकी तस्वीर मीटिंग में रखी जाती थी। इस दौरान उनकी कुर्सी भी खाली रहती थी। जयललिता की बीमारी के दौरान उनके करीबी पन्नीरसेल्वम सीएम का सारा कामकाज संभाल रहे थे। बता दें कि हॉस्पिटल में भर्ती होने से पहले जून में भी जयललिता पब्लिक फंक्शन में व्हीलचेयर पर नजर आई थीं। तब जयललिता ने सेक्रेटेरिएट से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चेन्नई मेट्रो का इनॉग्रेशन किया था। इस दौरान वो व्हीलचेयर पर थीं।

                 अब फाइनेंस मिनिस्टर ओ. पन्नीरसेल्वम (65) ने अगले सीएम के रूप में शपथ ली। मंगलवार सुबह पांच बजे राजाजी हॉल में जया का पार्थिव शरीर रखा गया। ताकि जनता उनके अंतिम दर्शन कर सके। रात करीब सवा 12 बजे अपोलो हॉस्पिटल ने बयान जारी किया कि जयललिता को तमाम कोशिशों के बाद भी बचाया नहीं जा सका। बयान में कहा गया कि जयललिता ने रात 11:30 बजे आखिरी सांस ली। जयललिता की मौत डिक्लियर किए जाने के बाद राजभवन में विधायकों का जुटना शुरू हो गया। गवर्नर सी. विद्यासागर राव ने दो मिनट का मौन रखवाकर शपथ ग्रहण शुरू करवाया। पन्नीरसेल्वम ने सीएम पद के रूप में शपथ ली। कुल 31 विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली। जयललिता के निधन के बाद उनकी राजनीतिक विरासत कौन संभालेगा, इसे लेकर सस्पेंस है। पन्नीरसेल्वम को पार्टी विधायक दल की बैठक में नेता चुन लिया गया। वे सीएम भी बन गए। वहीं, जयललिता की सबसे करीबी रहीं शशिकला को AIADMK में बड़ी जिम्मेदारी दिए जाने की चर्चा है। अंतिम संस्कार आज शाम  4:30 बजे होगा। वहीं एक दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like