Online India

  2017-04-24

ग्रामीण क्षेत्रों में लाल पैगाम का फैलाव कर रहे नक्सली

OnlineCG नारायणपुर। अबूझमाड़ में सरकारी दखल बढ़ने के बाद नक्सली सूबे में बवाल मचा हुआ है। सरकारी दवाब को कम करने के लिए नक्सलियों ने नई रणनीति के तहत काम करना शुरू कर दिया है, जिसके चलते नक्सली माड़ में लगातार ग्रामीणों की बैठक लेकर उन्हें लाल पैगाम से वाकिफ करवा रहे है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नक्सलियों के द्वारा पोचावाड़ा पंचायत के जुवड़ा और गुमटेर में बैठक लेकर ग्रामीणों के लिए नया फरमान जारी किया है , जिसमें खेती किसानी के लिए जंगल पर कुल्हाड़ी चलाने वाले लोगों को कहा गया है कि जंगल की कटाई पर विराम नहीं लगा तो वे जंगल काटने वाले के हाथ और पैर काट देंगे। इस बैठक का हिस्सा बने ओरछा के तीन मिशनरी समर्थकों की नक्सलियों के द्वारा भारी पिटाई की गई है। मिशनरी के सेवा की आड़ में धर्म का प्रचार करने पर नक्सलियों ने ऐतराज जताते कहा है कि वे देवी-देवताओं को मानने वाले लोगों को भ्रमित न करे। इस बैठक के दौरान नक्सलियों के लीडर के द्वारा एक अहम फरमान जारी कर ओरछा में बसे लोगों का पूरा डिटेल ग्रामीणों से मांगा गया है। बैठक में मौजूद नक्सली कमांडर चंद्रा और सपना के द्वारा ओरछा ब्लॉक मुख्यालय में रहने वाले समस्त परिवार के सदस्यों का जन्म कुंडली तैयार करने को कहा गया है। इस दौरान सरकारी कर्मचारियों के पदस्थापना की जगह से लेकर गैर सरकारी लोगों के कामकाज की जानकारी मांगी गई है। एक के सिर में मारी गोली पिछले एक महीने से ओरछा इलाके में नक्सलियों की चहल कदमी बढ़ी हुई है। एक साथ नक्सलियों का दल इलाके में भ्रमण कर रहा है। ओरछा के आश्र्रित संगनानी पारा में 20 अप्रैल की रात पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाते नक्यलियों के द्वार यहां के ग्रामीण सोनकु कोडियाम को सिर में गोली मार कर मौत के घाट उतार दिया है। घटना की रिपोर्ट ओरछा थाना में दर्ज कराई गई है। 21 अप्रैल को मृत ग्रामीण के शव का पोस्टमार्टम जिला अस्पताल में किया गया है।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like